आईटीआई लिमिटेड ने 71वाँ स्वतंत्रता दिवस मनाया



आईटीआई लिमिटेड ने 15 अगस्त 2017 को निगमित कार्यालय, बेंगलूरू परिसर में पूरे जोश एवं उत्साह और देशभक्ति के साथ देश की 71वीं स्वतंत्रता दिवस मनाया।

भारत छोड़ो आंदोलन की 75वीं वर्षगांठ के स्मरणोत्सव पर 9 अगस्त 2017 को भारत सरकार द्वारा 'संकल्प से सिद्धि-समाधान के माध्यम से स्वीकृति' नामक एक सामूहिक नए भारत आंदोलन की स्थापना की गई। भारत सरकार के निर्देशानुसार, संकल्प पर्व/दिवस, 15 अगस्त 2017 को नई भारत की प्रतिज्ञा लेकर मनाया गया। नये भारत के संकल्प का संचालन अंग्रेजी में, श्री एस गोपू, अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक, हिंदी में, डॉ जानकी अनंतकृष्णन, निदेशक (वित्त) और कन्नड़ में, श्री नागराज, मुख्य अभियंता (सिविल) द्वारा पढ़ा गया, तथा इसके साथ ही सभी कार्मिकों और सभा को संबोधित किया गया।

श्री एस गोपू, अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक, आईटीआई ने झंडे को सलामी देने के बाद राष्ट्रीय तिरंगा झंडा फहराया, जिसमें कार्यात्मक निदेशकों, वरिष्ठ अधिकारियों, कर्मचारी और कर्मचारी संघ, अधिकारी संघ के प्रतिनिधि, परिवार के सदस्य और आईटीआई स्कूल के बच्चे शामिल थे । इस शुभ अवसर पर, श्री गोपू ने सभी शहीदों और स्वतंत्रता सेनानियों के बलिदानों को याद किया, जिन्होंने हमारे देश को स्वतंत्रता दिलाई, उन्‍हें श्रद्धांजलि अर्पित की और जनसभा को शुभेच्छाएँ दी।

श्री गोपू ने अपने संबोधन में कहा, "आईटीआई खेल परिवर्तक पथ पर है और संगठन को नए ऊंचाइयों पर लाने के लिए नई परियोजनाएं बना रही है। कंपनी ने 1621 करोड़ रुपये का कारोबार हासिल किया है जो पिछले छह वर्षों में उल्लेखनीय रूप से उच्चतम कारोबार है। निवल लाभ में 21% की वृद्धि हुई है, जिससे भारत सरकार से अनुदान के साथ 305 करोड़ रुपये का लाभ हासिल किया है। वर्तमान में कंपनी के पास 1600 करोड़ रु का कार्यात्मक आदेश है जो कि देश में दूरसंचार के क्षेत्र में अपनी नेतृत्व की स्थिति को फिर से मजबूत करने का प्रयास है। कंपनी इस स्थिरता को जारी रखने और भारत सरकार के समर्थन से पूरा बदलाव लाने की योजना बना रही है। हम भारत सरकार के प्रतिष्ठित परियोजना 'भारतनेट' के लिए सी-डीओटी प्रौद्योगिकी के साथ जी-पीओएन आदेश को निष्पादित करने और बीएसएनएल से जीपीओन की आपूर्ति और स्थापना के आदेश और एक और बीबीएनएल के आदेश प्राप्त करने जैसे राष्ट्रीय महत्व की परियोजनाओं पर काम कर रहे हैं। रक्षा मोर्चे पर, कंपनी ने एस्कॉन के चौथे चरण परियोजना के मेगा निविदा में भाग लिया है और वाणिज्यिक बोली खुलने का इंतजार कर रही हैं। आईटीआई ने हाल ही में एनएफएस परियोजना के एन्क्रिप्शन उत्पादों के लिए बीएसएनएल से एन्क्रिप्शन उत्पादों की आपूर्ति के लिए रक्षा से 90 करोड़ रु का एक अनुबंध जीता है। हमने एस्कॉन एन्क्रिप्शन निविदा के लिए भी बोली लगाई है और अच्छे ऑर्डर प्राप्त करने की उम्मीद है । इसके अतिरिक्त, आईटीआई को रक्षा के डीसीएन नेटवर्क के विस्तार के खिलाफ आदेश की उम्मीद भी है। पालक्काड संयंत्र ने इसरो के जिओसिंक्रोनस सैटेलाइट लॉन्च वाहन (जीएसएलवी) मार्क तृतीय के लिए इलेक्ट्रॉनिक एसेम्बली के निर्माण में योगदान दिया है। इसरो के एक प्रतिष्ठित मिशन में से एक ने अंतरिक्ष कार्यक्रम में भारत के लिए एक विशाल छलांग लगाई है। आईटीआई, पालक्काड संयंत्र, में निर्मित इलेक्ट्रॉनिक पैकेज 5 जून, 2017 को सफल प्रक्षेपित किए गए थे। आईटीआई ने 'टैग आईटीआई' वॉलेट, एक डिजिटल मोबाइल वॉलेट लॉन्च किया है जिसका उपयोग कैशलेस लेनदेन और ऑनलाइन भुगतानों के लिए किया जा सकता है। विभिन्न एजेंसियों को आधार आधारित प्रमाणीकरण सेवाएं। आईटीआई डिजिटल इंडिया के तहत आईओटी और आईसीटी परियोजनाओं पर भी ध्यान केंद्रित कर रहा है । हमने विभिन्न परियोजनाओं जैसे आधार सेवा प्रमाणन, ई-हस्ताक्षर, ई-केवाईसी जैसे विभिन्न परियोजनाओं के लिए ई-मित्रा, विभिन्न राज्य सरकारों से ई-ग्राम और राष्ट्रीयकृत बैंकों के लिए कई ऑर्डर अर्जित किए हैं। हमने आईओटी पर आधारित विभिन्न समाधानों की पेशकश करने के लिए कई प्रौद्योगिकी प्रदाताओं के साथ समझौता किया है, जो स्मार्ट शहरों के लिए स्मार्ट इंफ्रास्ट्रक्चर बनाने और भारत सरकार की डिजिटल इंडिया की पहल को बढ़ाने के लिए भी शामिल है।

उन्होंने सभी कार्मिकों से तेजी से लक्ष्य प्राप्त करने के लिए आग्रह किया। खुद के पैरों पर खड़े होने जैसे मजबूत वित्तीय स्थिति और भारत में आईटीआई के लिए एक स्थान बनाने के उद्देश्य से उन्होंने कंपनी की गरिमा को वापस लाने के लिए निकट भविष्य में कंपनी के पूर्ण रूप से हाशिल करने के लिए कड़ी मेहनत की दिशा में सभी को प्रोत्साहित किया।"

श्री एस गोपू ने 'भारत छोड़ो आंदोलन से संबंधित प्रश्नोत्तरी', 'देशभक्ति गीत' और 'पिक एंड स्पीक' प्रतियोगिताओं के विजेताओं को पुरस्कार प्रदान किए।

श्री एस.गोपू ने श्री ए.एस नागेश, श्री एम.देशमुख, श्री बी.आर.मोहन सिंह, श्री संजय कुमार रैना और श्री जोनाथन व्हीलर को कंपनी के प्रति उनके उत्तम योगदान के लिए निगमित निष्पादन पुरस्कार देकर सम्‍मानित किया।

यह संचार और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार के अधीन सरकारी उपक्रम आईटीआई लिमिटेड की अधिकारिक वेबसाइट है |


अंतिम अद्यतन
23rd नवम्बर 2017